Garibon Ke Flat Ka Size Huya Chhota


Garibon Ke Flat Ka Size Huya Chhota

Dainik Jagran

Housing


Housing

Source:- Dainik Jagaran

दिल्ली सरकार का झुग्गी मुक्त करने का सपना और झुग्गीवासियों का एक अच्छे घर का सपना


delhi-india-slums-povertyदिल्ली की मलीन बस्तियों में रहने वाले लोगों से हुई बातचीत के दौरान यह बात सामने आये कि कोई भी झुग्गीवासी इन बस्तियों में नहीं रहना चाहता है यह लोग बहुत ही कम संसाधनों के साथ अमानवीय ढंग से रहने को विवष हैं। इस मंहगाई के युग में एक अच्छा घर किराये पर लेना ही मुष्किल है तो खुद का घर खरीदना चांद को छूने से कम नहीं है। दिल्ली की मलीन बस्तियों में रहनम वाले लोग रहने लायक एक अच्छे घर का सपना देखते हैं दिल्ली सरकार इसी सपने को साकार करने के लिए दिल्ली को झुग्गी मुक्त करने की कई योजना चला रही है। 19 मई 2013 को दैनिक जागरण में प्रकाषित खबर हुई कि कालकाजी एक्सटेंषन में झुग्गी वालों के लिए बनाए जायेंगे फ्लैट दिल्ली अरबन आर्ट कमीषन ने कुछ संषोधन कर इस परियाजना को मंजूरी दे दी है। यह परियोजना दिल्ली विकास प्राधिकरण ने तैयार की है। इसके तहत जहां झुग्गी बसी हुई है उन्हें हटाकर वहीं 12-14 बहुमंजिला फ्लैट बनाए जायेंगे। सरकार ने झुग्गीवासियों देने की जो योजना बनाई है वो काबिले तारीफ है लेकिन सवाल यह उठता है कि जिनके लिए यह योजना बनाई गई है उन लोगों के योजना बनाने से पहले सुझाव लिए गये हैं या नहीं। झुग्गीबस्ती में रहने वाले अधिकतर लोग रिक्षा चालक सब्जी की रेहड़ी लगाने वाले इसी प्रकार और भी काम करने वाले लोग रहते है। क्या इस योजना में इनके रेहड़ी रिक्षा के लिए पार्किंग के लिए जगह दी गई है।

निर्माण मज़दूरों के बीच जागरूकता अभियान


निर्माण मज़दूरों के वर्शों के कड़े सघर्श के बाद भारत सरकार ने निर्माण मज़दूरों के लिए एक कानून बनाया। इसी कानून के तहत दिल्ली सरकार ने 2002 में दिल्ली भवन एवं सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड का गठन किया। वर्तमान समय में बोर्ड के पास 12 सौ करोड़ के लगभग रूपया जमा है इतना रूपया होने के बावजूद सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड निर्माण मज़दूरों का कल्याण नहीं कर पा रहा है। बोर्ड के पैसो से मिलने वाले फायदे इन मज़दूरों तक नही पहुंच रहा है इसका मुख्य कारण है कि मज़दूरों में इस कानून एवं बोर्ड की जानकारी की कमी इसी कमी के कारण निर्माण मज़दूर अपना पंजीकरण नहीं करा पाते हैं और इसी कमी को दूर करने के लिए दिल्ली निर्माण मज़दूर संगठन दिल्ली की सभी बस्तियों लेबर चौकImage तथा कालोनियों में बैठक कर संगठन का सदस्य बनाकर  दिल्ली भवन एवं सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड में पंजीकरण की प्रक्रिया से जोड़ रहा है और इस कानून के बारे में तथा बोर्ड से मिलने वाले लाभ के बारे में जन जागरूक कर रहा है।

-Ravi Kumar Saxena

CHHUTTI KE DIN BAI KAREGI AARAM


http://paper.hindustantimes.com/epaper/viewer.aspx

Invitation for Mass Rally


DELHI’S SLUM DWELLERS MARCHING TO PARLIAMENT
FOR PROTECTING THEIR SHELTER & LIVELIHOOD RIGHTS
Poor Demand amendments in modified Delhi Slum Policy &
immediate stoppage of slum evictions
Venue- Ranjit Singh Flyover to Jantar Mantar
Date-27.11.2012
Time 11.30am
On the 27th of November’2012, unorganized sector workers living in slum areas of Delhi are assembling at Mata Sundari Road/Marg, near Ranjit Singh flyover & will march to Jantar Mantar at 11.30am to demand amendments in slum policy of Delhi. The present policy will evict more than 80% of the slum dwellers in the name of eligibility & non-eligibility criteria. More than 2.00 lakhs families have seen their homes demolished and their belongings destroyed in Delhi during the last decade. As the workers whose labor and whose services drive this city, we demand that we too have a right to live with dignity inside its boundaries.
Delhi Shramik Sangathan demands there should be no eviction till the amendments in Delhi Slum Policy is done as per the demands/suggestions provided by the slum representative organization.
Eminent social activists & Sangathan leaders from Delhi slums address this rally at Jantar Mantar. Representatives from areas across Delhi will be attending the meeting to demand amendments in modified slum policy of Delhi & grant us the right to live as citizens in our own city.
Please cover the news with your photographers & support the cause of urban poor.
For further information contact
Ramendra/Anita at: 9868815915/9891264064
%d bloggers like this: