DELHI SHRAMIK SANGATHAN

Home » Report

Category Archives: Report

दिल्ली श्रमिक संगठन, क्षेत्रीय श्रमिक सम्मेलन


क्षेत्रीय श्रमिक सम्मेलन
पश्चिम और दक्षिण पश्चिम जिले के 9 क्षेत्रो के श्रमिकों ने दिनाॅक 30 अगस्त 2018 को समुदाय भवन विकास नगर मे क्षेत्रीय श्रमिक सम्मेलन का आयोजन किया। इस सम्मेलन मे निर्माण श्रमिक एवं घरेलू कामगारों ने हिस्सा लिया। सम्मेलन के पहले सत्र मे अलग-अलग क्षेत्रो से आये निर्माण मज़दूरों के स्थानीय नेतृत्व ने अपने वक्तत्य रखे। 10 श्रमिकों ने अपने भाषण मे निम्नलिखित मुद्दों को शामिल किया।

वक्ताओं ने बताया कि मई माह से निर्माण मज़दूरों का पंजीकरण और नवीनीकरण का कार्य पुरी तरह से बन्द कर दिया गया है। मज़दूरों के लाभ आवेदन भी स्वीकार नही किये जा रहे है। काम क्यो बंद किया गया इसकी कोई जानकारी भी मज़दूरों को नही दी गई। (more…)

Massive Rally & Protest by Domestic Workers


 

Demanding Comprehensive Legislation for Domestic Workers and Withdrawal of the draft social security codes

On August 2nd at Parliament street

Ever since the GOI voted for ILO Convention 189, the domestic Workers in India have been demanding a Legislation to protect their rights. The statistics on domestic workers vary from 4.75 million (NSS 2005 data) to 6.4 million (Census data). Some reports say that the number of domestic workers may be up to 90 million in India. Domestic work has been increasing over the years (222% since 1999-2000). While paid domestic work was once a male dominated occupation in pre-independence India (Neetha 2004), today women constitute 71 percent of this sector. National estimates for 2004-5 suggest 4.75 million workers were employed by private households, making domestic work as the largest female occupation in Urban India. The data may be underreported because of several reasons, the main being that domestic work is not treated as ‘real’ work leading to large instances of undeclared work. Secondly, being within the home, domestic workers are largely invisible and thirdly, this can be a part time occupation, with workers taking up other seasonal occupations. The demand for domestic workers is also on the increase.

(more…)

दिल्ली निर्माण मजदूर संगठन द्वारा क्षेत्रीय सम्मेलन


दिनाॅक 28/07/2017 को चूना भट्टी कैम्प, कीर्ति नगर के निरंकारी भवन मे निर्माण मज़दूरों के क्षेत्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन मे चूना भट्टी कैम्प के ए. बी. सी ब्लाक, हरिजन कैम्प, कमला नेहरू कैम्प के 300 श्रमिकों ने हिस्सेदारी की।
सम्मेलन मे सहभागियों का स्वागत बिन्दु जिन्दल जी ने किया। संगठन की वार्षिक रिर्पोट आरती ने प्रस्तुत की। संगठन के महासचिव श्री रमेन्द्र कुमार ने संगठन के समक्ष

(more…)

एम्स में फिर हादसा, एक मरा, दो जख्मी (New-NBT, The Hindu)


50440

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

The Hindu

Labourer dies on AIIMS campus

Published: April 14, 2016 00:00 IST | Updated: April 14, 2016 05:33 IST NEW DELHI, April 14, 2016

Shubhomoy Sikdar

Barely a month after two construction workers died at an AIIMS construction site, a 26yearold
man died and two others suffered severe
injuries after they fell from the fourth floor of an underconstruction
building in AIIMS this evening.
For their repeated alleged negligence, the Delhi Police have booked the construction company for Culpable Homicide (not amounting to
murder) this time. The deceased has been identified as Diwakar. The injured persons, Lokesh and Sushil, are admitted to the AIIMS Trauma
Centre.

दिल्ली निर्माण मजदूर संगठन के सदस्यों की माँगे दिल्ली सरकार ने पूरी की


दिल्ली निर्माण मजदूर संगठन के वार्षिक सम्मलेन 2015 में दिल्ली भवन एवं सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड की सुविधाओ में बढोतरी की माँग को लेकर दिल्ली निर्माण मजदूर संगठन के सदस्यों ने अपने हस्ताक्षर के साथ मांगों की एक प्रतिलिपि दिल्ली सरकार को भेजी थी | दिल्ली सरकार ने 4 मार्च 2016 को लागु कर दिया है |

New Doc 1

Gazette Notification of DBOCWWB

2014 in review


The WordPress.com stats helper monkeys prepared a 2014 annual report for this blog.

Here’s an excerpt:

A San Francisco cable car holds 60 people. This blog was viewed about 1,400 times in 2014. If it were a cable car, it would take about 23 trips to carry that many people.

Click here to see the complete report.

आग से तबाह हुई दो हज़ार जिंदगियां


दिनाॅक 25 अप्रिल 2014 को जय हिन्द कैम्प में सुबह 8 बजे के करीब आचानक आग लगने से 800 झुग्गियां जलकर राख हो गई। यह कैम्प मसूदपुर वसंत कुंत में स्थित है। इस कैम्प के वासी अधिकतर सब काम पर गये हुये थे। अचानक कैम्प में आग लगी और आग की चपेट में 8 गैस सिलेन्डर आ गये। सिलेन्डर फटने से आग ने विकराल  रूप ले लिया। और देखते ही देखते आठ सौ झुग्गियां राख में तब्दील हो गईं।Image

शाहिद ने बताया कि उसकी कमाई का जरिया उनकी परचून की छोटी सी दुकान थी जो कि आग के  दानव ने  निगल ली है। कैम्प के निवासी अरूण सिंह ने बताया कि फायर ब्रिगेड मौके पर पंहुची  आग को अन्य झुग्गियों  में फैलने से पहले आग पर काबू पा लिया फिर भी लोगों का सारा सामान  जैसे कूलर, पंखा, फ्रिज़, रानष कार्ड,  पहचान पत्र और खून पसीना बहाकर जमा की गई सारी कमाई  आग में स्वाहा हो गई। और बहुत से लोग अपना  सामान बचाने के चलते आग से जख्मी हो गये।

गैर सरकारी संस्थाओं ने तुरन्त राहत का सामान मुहैया कराया जैसे दवा, खाना, बच्चों के लिये  स्पेषल टैण्ट  और खाना इत्यादि। सरकार द्वारा आग से पीडि़त लोगों को रहने के लिये टैण्ट, पीने  के लिये पानी मुहैया  कराया। इस तपती गर्मी में लोग बिना पंख और कूलर के रहने को मज़बूर हैं,  हजारों लोग बेघर हो चुके है।

 

-Ravi Kumar Saxena

%d bloggers like this: