Delhi Shramik Sangathan

Home » News » निर्माण मजदूरों ने जाने अपने हक़

निर्माण मजदूरों ने जाने अपने हक़

दिल्ली निर्माण मज़दूर संगठन द्वारा आज लोखण्डे भवन विकास नगर में निर्माण मज़दूरों के साथ बैठक आयोजित की गई। इस बैठक का मुख्य उददेश्य था जो निर्माण मज़दूर, संगठन के सदस्य बन, अपना पंजीकरण दिल्ली भवन एवं सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड में करा रहे हैं, उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना तथा सन्निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड से मिलने वाले लाभ के बारे में जानकारी देना।
इस बैठक में निर्माण मज़दूरों के लिए सामाजिक सुरक्षा कानून किस तरह बना उसके इतिहास के बारे में बताया।

बोर्ड से मिलने वाले लाभ के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि जो पंजीकृत निर्माण मज़दूर हैं उनके दो बच्चों के लिए वजीफा मिलता है, काम के दौरान मृत्यु होने पर एक लाख तक मुआवजा मिलता है, महिला को गर्भवती होने पर जच्चा बच्चा का खर्च मिलता है, मकान बनाने, मकान खरीदने, औजार खरीदने व बच्चों की शादी के लिए आर्थिक सहायता मिलती है, 60 वर्ष की आयु होने पर काम की पेंशन मिलती है।
कुछ मज़दूर साथियों ने अपनी समस्या रखते हुए यह सवाल उठाया कि हमारे बीच में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मजबूरी के कारण कम पैसे लेकर काम करते हैं जिससे हमारी तय दिहाड़ी पर असर पड़ता है और अन्य मज़दूरों को भी कम पैसे में काम करना पड़ता है।
अंकुर जी व अन्य लोगों ने सुझाव देते हुए कहा कि जो दिल्ली सरकार द्वारा तय की गई न्यूनतम मज़दूरी है उससे एक पैसा भी कम नहीं लेना चाहिए।
इसी के साथ मज़दूर साथियों ने कहा कि हमें इतनी सारी जानकारियों व अधिकारों से अवगत कराया इसके लिए हम संगठन के आभारी हैं और हम सब लोग संगठन के साथ तन मन और धन से जुड़े रहेंगे। इस बैठक का संचालन संगीता जी व बिन्दू जी ने किया।
-Ravi Kumar

ImageImageImageImage

Advertisements

2 Comments

  1. shekhar singh says:

    sabhi ko zindabad….

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: